Paris Paralympics: सुहास-सुकांत ने किया पेरिस पैरालंपिक के लिए क्वालीफाई

Paris Paralympics: इस बार पेरिस पैरालंपिक का आयोजन 28 अगस्त से आठ सितंबर के बीच होना है। अब इसके लिए भारत के सुकांत कदम और सुहास एल वाई ने क्वालीफाई कर लिया है। क्यूंकि कदम पिछले कई वर्षों से काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे और देश के लिए पदक जीत रहे थे।

Paris Paralympics : इस बार पेरिस पैरालंपिक का आयोजन 28 अगस्त से आठ सितंबर के बीच होना है। इसी बीच अब भारत के पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी सुकांत कदम, तरुण और सुहास एल वाई ने पेरिस में होने वाले पैरालंपिक के लिए क्वालिफाई कर लिया है। वहीँ इस मेगा टूर्नामेंट पैरालंपिक में सुकांत कदम पहली बार भाग लेंगे।

सुकांत कदम पुरुषों की एससल-4 श्रेणी हिस्सा लेंगे। उनके अलावा भारत के तरुण और सुहास एलवाई ने भी एसएस-4 श्रेणी के ही क्वालिफाई कर लिया है। एसएल 4 में केवल वही खिलाड़ी भाग लेते है जिसके शरीर के एक तरफ या दोनों पैरों में निचले स्तर पर मूवमेंट प्रभावित होती है। वहीं एसएल-3 महिला वर्ग में मनदीप कौर ने जबकि मिश्रित युगल एसएल 6 वर्ग में निथ्या और शिवराजन ने भी क्वालिफाई कर लिया है।

एसएल-3 श्रेणी में शरीर के एक तरफ , दोनों पैरों या अंगों की अनुपस्थिति वाले खिलाड़ियों के लिए आते है। इस बार पेरिस पैरालंपिक 28 अगस्त से आठ सितंबर तक होने वाले है। इस बार सुकांत कदम काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे है। और लगातार देश के लिए पदक जीत कर ला रहे है। तभी तो कदम ने कहा है कि “यह मेरे लिए सपने का साकार होने जैसा है। क्यूंकि मैंने पैरालंपिक क्वालिफाई करने के लिए काफी कड़ी मेहनत की है। लेकिन यह सपने का अंत नहीं है। मैं इस सपने का नट पदक जीतकर और भारत को गौरवान्वित करके करना चाहता हूँ।”

सुकांत कदम इस समय बहरीन में पैरा बैडमिंटन अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भाग ले रहे है। वहीँ तीसरे दिन भारत के लिए ऊँची कूद के पैरा एथलीट निषाद कुमार ने जापान के कोबे 2024 पैरा एथलेटिक्स विश्व चैंपियनशिप और प्रीति पाल ने महिलाओं की 200 मीटर स्पर्धा का कांस्य पदक जीता। वहीँ टोक्यो पैरालंपिक के रजत पदक विजेता निषाद ने पुरुषों की ऊंची कूद टी47 फाइनल में 1.99 मीटर के प्रदर्शन से दूसरा स्थान हासिल किया और भारत का खाता खोला।

निषाद कुमार ने पेरिस में 2023 विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में इस स्पर्धा का रजत पदक जीता था। वहीँ अमेरिका के रोड्रिक टाउनसेंड ने 2.05 मीटर की कूद से इस स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया है। वहीँ एक अन्य भारतीय खिलाडी राम पाल ने अपने सत्र के सर्वश्रेष्ठ 1.90 मीटर के साथ छठा स्थान प्राप्त किया है।

वहीँ टी47 में वो पैरा ट्रैक एथलीट हिस्सा लेते हैं जिनका कोहनी या कलाई के नीचे का हिस्सा कटा होता है या उनमें विकृति होती है। फिर भी भारत की प्रीति पाल ने महिलाओं की टी 35 वर्ग की 200 मीटर स्पर्धा के फाइनल में 30.49 सेकेंड के समय से तीसरा स्थान प्राप्त कर भारत को दूसरा पदक दिलाया। टी 35 में वो खिलाड़ी हिस्सा लेते हैं जिनमें समन्वय संबंधित विकृति होती है।

वहीं दीप्ति जीवनजी ने महिला टी20 400 मीटर फाइनल के लिए क्वालीफाई किया है। दीप्ति जीवनजी ने 56.18 सेकंड के एशियाई रिकॉर्ड समय से अपनी हीट में रेस जीती है। अब चीन 26 पदक के साथ तीसरे दिन तालिका में शीर्ष पर है। भारतीय टीम अभी इस अंक तालिका में 29वें स्थान पर है। क्यूंकि यह चैम्पियनशिप 25 मई तक चलने वाली है।

ये भी पढ़ें: क्या है विराट और रोनाल्डो का फिटनेस मंत्रा?

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More