IPL कैसे बनी सबसे महंगी क्रिकेट लीग, जानिए क्या है कमाई का जरिया

खबर है कि अब आईपीएल की ब्रॉन्ड वैल्यू में करीब छह फीसदी का इजाफा हुआ है।

आईपीएल की लोकप्रियता हर साल नए पैमाने को छू रही है। वर्तमान समय में आईपीएल क्रिकेट की सबसे मंहगी लीग है। इसके अलावा अब अन्य लोकप्रिय लीग को भी मार्केट वेल्यू के अनुसार टक्कर देने के लिए तैयार है। इसके पीछे का कारण हर साल इसकी ब्रॉन्ड वैल्यू में इजाफा होना है। खबर है कि अब आईपीएल की ब्रॉन्ड वैल्यू में करीब छह फीसदी का इजाफा हुआ है। पिछले साल आईपीएल की मार्केट वैल्यू 87000 करोड़ थी, जो कि इस साल बढ़ कर 925000 करोड़ रुपये हो चुकी है। जिसका मतलब हुआ कि इस साल करीब 6.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

सबसे महंगी क्रिकेट लीग होने का ये है कारण 

जब से आईपीएल में गुजरात टाइटंस और लखनऊ सुपर जाएंट्स की टीम शामिल हुई हैं, तब से ही आईपीएल की मार्केट वैल्यू में शानदार इजाफा देखने को मिला है। एक तरफ जहां लखनऊ सुपर जाएंट्स की फ्रेंचाइजी के लिए 7090 करोड़ रूपये और दूसरी तरफ गुजरात टाइंट्स की फ्रेंचाइजी के लिए 5625 करोड़ रूपये खर्च करने पड़े हैं। इसके अलावा ब्रॉडकास्ट राइट्स से भी आईपीएल में काफी पैसा बरसता है। पिछले साल बीसीसीआई ने टेलिविजन और डिजिटल राइट्स के लिए ऑक्शन के जरिए 48390 करोड़ रुपये कमाए। इसके अलावा वॉयकाम-18 ने 20500 रूपये में डिजिटल राइट्स खरीदा था।

इस वक्त आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ब्रॉन्ड वैल्यू सबसे उपर है। इसके बाद चेन्नई सुपर किंग्स है, जबकि तीसरे नंबर पर रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर है। इस साल भी मुंबई इंडियंस की टीम 410-450 मिलियन डॉलर के साथ टॉप पर है।

ये भी पढ़ें:बीसीसीआई का ऐतिहासिक फैसला, धोनी की जर्सी नंबर 7 को किया रिटायर

स्पोर्ट्स से जुड़ी अन्य खबरें जैसे, cricket news और  football news के लिए हमारी वेबसाइट hindi.sportsdigest.in पर log on करें। इसके अलावा हमें FacebookTwitter पर फॉलो व YouTube चैनल को सब्सक्राइब करें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More