ये है क्रिकेट इतिहास की पहला मैच, पहली गेंद, पहली जीत और किसने लिया पहला रन

क्या आपको क्रिकेट इतिहास के सबसे पहले मैच के बारे में पता है? अगर नहीं तो आज के इस लेख में हम आपको क्रिकेट इतिहास के पहले मैच के बारे में बताने जा रहे हैं।

पहले की तुलना में आज का क्रिकेट काफी बदल चुका है। जैसे-जैसे वक्त बीत रहा है ठीक वैसे क्रिकेट की  लोक्रप्रियता और विकास दोनों तेजी से आगे बढ़ रहा है। पहले क्रिकेट को केवल अंग्रेजों का खेल माना जाता था, लेकिन आज एशिया में इसके लिए यूरोप की तुलना में ज्यादा प्यार देखने को मिल रहा है। आज खासकर भारत में हर कोई खुद को क्रिकेट का जानकार मानता है। इस बात में सच्चाई भी है, क्योंकि भारत में क्रिकेट सबसे ज्यादा खेला और देखे जाने वाला खेल है। लेकिन क्या आपको क्रिकेट इतिहास के सबसे पहले मैच के बारे में पता है? अगर नहीं तो आज के इस लेख में हम आपको क्रिकेट इतिहास के पहले मैच के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं इतिहास के पहले क्रिकेट मैच के बारे में।

पहला मैच और पहली गेंद

दुनिया का पहला क्रिकेट मैच इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न में खेला गया था। ये बात साल 1877 की और दिन था 15 मार्च का। ये मैच टेस्ट प्रारूप में खेला गया था। अगर बात करें क्रिकेट इतिहास में पहली गेंद डालने वाले गेंदबाज की तो उनका नाम अल्फ्रेड है। अल्फ्रेड ने अपनी पहली गेंद बनरमैन को फैंकी थी। इसका मतलब हुआ कि क्रिकेट इतिहास की पहली गेंद खेलने का रिकॉर्ड बनरमैन के नाम है।

ऑस्ट्रेलिया ने जीता पहला मैच 

जो मैच साल 1877 में पहली बार मेलबर्न में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था, उस मैच को ऑस्ट्रेलिया ने जीता था। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता था और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। एक तरफ जहां ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज चार्ल्स बनरमैन और एम थॉम्पसन के हाथों में बल्ला था तो वहीं, इंग्लैंड के अल्फ्रेड शाह को गेंदबाजी की जिम्मेदारी मिली थी। हांलाकि अल्फ्रेड शाह अपनी गेंद पर बनरमैन को आउट नहीं कर पाए। लेकिन क्रिकेट इतिहास में अल्फ्रेड के नाम ही टेस्ट प्रारूप में पहला विकेट लेने का रिकॉर्ड दर्ज है। क्रिकेट इतिहास के पहले मैच में अल्फ्रेड तीन विकेट लिए। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने पहले बल्लेबाजी कर इंग्लैंड के सामने 246 रनों का लक्ष्य दिया। इसके बाद इंग्लैंड की टीम बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतरी और कुल 196 रन पर ऑलआउट हो गई। इसके बाद पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज भी ज्यादा कमाल नहीं कर सके और मात्र 104 ही टीम के लिए जोड़ सके। अब इसके बाद इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 154 रनों का लक्ष्य था, लेकिन वो 108 रन पर ही सिमट गई। इस हिसाब से क्रिकेट इतिहास का पहला मैच को कि टेस्ट प्रारूप में खेला गया था, उसे ऑस्ट्रेलिया ने जीता था।

ये भी पढ़ें: जानिए कैसे स्पोर्ट्स टीचर बन कर दें अपने सपनों को पंख

स्पोर्ट्स से जुड़ी अन्य खबरें जैसे, cricket news और  football news के लिए हमारी वेबसाइट hindi.sportsdigest.in पर log on करें। इसके अलावा हमें FacebookTwitter पर फॉलो व YouTube चैनल को सब्सक्राइब करें। 

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More