क्या है ‘स्टॉप क्लॉक’ नियम, ICC इसे कब करेगा लागू, किसको होगा इसका फायदा, जानिए पूरी बात

एक बार फिर मीडिया में ये खबर जोर पकड़ रही कि आईसीसी टी20 विश्वकप 2024 से पहले ‘स्टॉप क्लॉक’ नियम लागू कर सकता है।

आएदिन हम देखते आ रहे हैं कि आईसीसी क्रिकेट को रोमांचित बनाने के लिए नए नियम ला रहा है। एक बार फिर से ऐसा देखने को मिल रहा है। दरअसल, अभी भारत में आईपीएल चल रहा है। इसके टूर्नामेंट के समापन के ठीक बाद आईसीसी मेंस टी20 विश्वकप खेला जाना है। ये अमेरिका और वेस्टइंडीज की संयुक्त मेजबानी में खेला जाएगा। अब ऐसे में एक बार फिर मीडिया में ये खबर जोर पकड़ रही कि आईसीसी टी20 विश्वकप 2024 से पहले ‘स्टॉप क्लॉक’ नियम लागू कर सकता है। कई लोगों के लिए ये नया शब्द होगा। आज हम इसी के बारे में आपको तफसील से बताने जा रहे हैं। तो आइए जानते हैं कि आखिर क्या है ‘स्पॉट क्लॉक’ नियम और क्या इसे टी20 विश्वकप 2024 से पहले लागू किया जाएगा या  फिर नहीं।

क्या है ‘स्टॉप क्लॉक’ नियम?

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के तहत चर्चा में रहने वाला स्टॉप क्लॉक नियम में एक खास बात दिखाई पड़ती है। दरअसल, इस नियम के अंतर्गत गेंदबाजी करने वाली टीम को अपना अगला ओवर 60 सेकेंड के अंदर शुरु करना होगा। यदि फिल्डिंग कर रही टीम ऐसा नहीं करती है तो उस पर 5 रन की पेनाल्टी लगाई जाएगी, लेकिन इससे पहले अंपायर को दो बार चेतावनी देनी जरूरी होगी। इस नियम की पैरवी करते हुए आईसीसी ने बताया है कि ये इसलिए लागू किया है ताकि इससे मैच के दौरान समय की बर्बादी न हो।

कब से लागू हो सकता है ये नियम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आईसीसी इन नियम को टी20 विश्वकप 2024 से ठीक पहले लागू कर सकती है। लेकिन इस पर अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा, क्योंकि जब तक नियम जमीनी स्तर पर प्रयोग में नहीं लाया जाता है तब तक इस बारे में सिर्फ कयास ही लगाए जा सकते हैं। इस नियम के लिए आईसीसी पिछले साल से इस साल अप्रैल महीने तक ट्रायल कर रही है।

 

IND vs AUS
Photo Source: ICC

इस नियम से किसको होगा फायदा

इस नियम से सबसे ज्यादा फायदा फिल्डिंग कर रही टीम को होगा। लेकिन सच्चाई ये भी है कि मैच खेल रही दोनों टीमों को एक बार तो फिल्डिंग करनी ही पड़ेगी। ऐसे में कई लोगों का मानना है कि ये दोनों टीमों के हित में होगा। यदि इस नियम को ध्यान से देखें तो पहले गेंदबाजी करने वाली टीम को इसका ज्यादा फायदा होगा। बता दें कि पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम को बाद में फिल्डिंग करनी होगी। ऐसे में क्षेत्र रक्षण कर रही टीम के कप्तान को मैच के नाजुक मोड़ में फैसले लेने में काफी दिक्कत होगी, क्योंकि उसके पास दूसरे ओवर को शुरु करने के लिए सिर्फ 60 सेकेंड का वक्त होगा।

इस स्थिति में रद्द हो सकता है ये नियम

स्टॉप क्लॉक नियम से बचने के लिए कुछ अपवाद भी हैं। जैसे कि मैच के दौरान अगर कोई भी खिलाड़ी चोटिल हो जाता है या फिर किसी भी प्लेयर्स के आउट होने पर जब नया खिलाड़ी मैदान पर आता है, तो इस परिस्थिति में स्टॉप क्लॉक नियम रद्द किया जाएगा। लेकिन इसका अंतिम फैसला फिल्ड अंपायर का ही होगा। 

गौरतलब है कि पहले गेंदबाजी टीम अपनी रणनीति बनाने में बहुत ज्यादा समय लगा देती थी। जिसके लिए उस टीम के कप्तान और टीम पर आर्थिक जुर्माना लगाया जाता था। हांलाकि स्टॉप क्लॉक नियम के आने से अब ये बदलाव देखने को मिलेंगे कि गेंदबाजी टीम को 5 रन की पेनल्टी का नुकसान भर सकती है। 

ये भी पढ़ें: आखिर कौन हैं असली चंदू चैंपियन? कार्तिक आर्यन निभा रहे हैं किरदार, शेयर किया पोस्टर

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More