ODI Record: ये हैं वो पांच खिलाड़ी जिन्होंने रन तो काफी बनाए लेकिन शतक एक भी नहीं…

आज के इस लेख में हम उन पांच खिलाड़ियों की लिस्ट बताने जा रहे हैं, जिन्होंने रन तो खूब बनाए लेकिन अपने करियर में एक भी शतक नहीं लगा पाए। आइए ऐसे ही पांच खिलाड़ियों के बारे में जातने हैं।

इस वक्त भारत में आईसीसी वनडे विश्वकप 2023 का आयोजन चल रहा है। इस बार दुनिया के 10 देश इसमें हिस्सा ले रहे हैं। इसी वजह से आज हम खेल का एक ऐसा रिकॉर्ड आपके सामने लाने जा रहे हैं जो शायद आज तक आपको नहीं पता होगा। जी हां, आज के इस लेख में हम उन पांच खिलाड़ियों की लिस्ट बताने जा रहे हैं, जिन्होंने रन तो खूब बनाए लेकिन अपने करियर में एक भी शतक नहीं लगा पाए। आइए ऐसे ही पांच खिलाड़ियों के बारे में जातने हैं।

1. मिस्बाह-उल-हक

इस लिस्ट में सबसे पहला नाम पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मिस्बाह-उल-हक का है। जी हां, मिस्बाह-उल हक अपनी टीम के लिए मध्यक्रम के बल्लेबाज थे। अपने वनडे क्रिकेट करियर के दौरान उन्होंने कुल 5,122 रन बनाए और इस दौरान उन्होंने एक भी शतक नहीं लगाया। हांलाकि साल 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान एक मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ वह शतक के काफी करीब पहुंच गए थे लेकिन इस मैच में भी वो शतक लगाने में कामयाब नहीं हो पाए।

2. वसीम अकरम

इस लिस्ट में दूसरा नाम भी एक पाकिस्तानी तेज गेंदबाज का ही है। वसीम अकरम जो कि अपने समय के सबसे घातक गेंदबाजों में से एक थें। उनके नाम गेंदबाजी  के कई रिकॉर्ड हैं। इसके बावजूद आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि वह भी इस रिकॉर्ड से अछूते नहीं हैं। टेस्ट क्रिकेट में उनका 257* रन 8वें नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले बल्लेबाज का सर्वोच्च स्कोर है। वनडे में उन्होंने 3717 रन बनाए हैं लेकिन उनके नाम एक भी शतक नहीं है। 1990 में, उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 86 रन बनाए जो इस प्रारूप में उनका सर्वोच्च स्कोर है। उनके नाम छह अर्धशतक हैं।

3. मोइन खान

लगता है कि ठीकठाक रन बनाने के बाद भी एक शतक ना लगाने वालों की लिस्ट में पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने पीएचडी कर रखी है। तभी तो इस लिस्ट के तीन नंबर तक पाकिस्तानी खिलाड़ी ही हैं। तीसरे नंबर पर पाकिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोइन खान हैं। इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने वनडे में 3266 रन बनाए। उन्होंने 2004 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 72* रन बनाए। उन्होंने निचले क्रम में 6 और 7वें नंबर पर बल्लेबाजी की जिससे उनके लिए शतक बनाना मुश्किल हो गया। उन्होंने इस फॉर्मेट में 12 अर्धशतक लगाए हैं।

4. हीथ स्ट्रीक

जिम्बाब्वे के हीथ स्ट्रीक अपने समय के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी ऑलराउंडर में से एक थे। जिम्बाब्वे के लिए खेले गए 189 मैचों में उन्होंने 2943 रन बनाए, जिसमें उनका सर्वोच्च स्कोर 79* था, जो न्यूजीलैंड के खिलाफ विजयी अभियान था। बल्ले और गेंद दोनों से उनके प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया। मोईन की तरह हीथ भी निचले क्रम में खेले जिससे उनके लिए शतक बनाना मुश्किल हो गया। उनके नाम 13 अर्धशतक हैं।

5. एंड्रयू जोन्स

न्यूज़ीलैंड के एंड्रयू जोन्स देर से ब्लूमर थे। जब उन्हें न्यूजीलैंड के लिए पहली कैप मिली तब वह 28 वर्ष के थे। शीर्ष क्रम के बल्लेबाज ने 87 एकदिवसीय मैच खेले और बिना कोई शतक बनाए 2784 रन बनाए। इस फॉर्मेट में उनका उच्चतम स्कोर 93 रन है. उन्होंने इस फॉर्मेट में 25 अर्धशतक बनाए।

ये भी पढ़ें: जार्वो फिर मैदान में घुसा, अब हुआ ICC विश्वकप से बैन

स्पोर्ट्स से जुड़ी अन्य खबरें जैसे, cricket news और  football news के लिए हमारी वेबसाइट hindi.sportsdigest.in पर log on करें। इसके अलावा हमें FacebookTwitter पर फॉलो व YouTube चैनल को सब्सक्राइब करें।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More