क्या कहता है ICC का इतिहास, कहां से होती है कमाई, जानिए सबकुछ

क्रिकेट के किसी नियम में बदलाव करना हो या फिर कोई नया नियम लाना है, इन सब में भी आईसीसी बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

इस वक्त दुनिया की जीतनी टीमें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में प्रतिभाग कर रही हैं, उन सभी टीमों को अंतराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानी आईसीसी कंट्रोल करता है। चाहे दो टीमों में सीरीज करानी हो या फिर टी-20 और एकदिवसीय जैसे अहम आयोजनों को भी आईसीसी ही करवाता है। क्रिकेट के किसी नियम में बदलाव करना हो या फिर कोई नया नियम लाना है, इन सब में भी आईसीसी बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ICC का पूरा नाम International Cricket Council यानी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद होता है।

आईसीसी का की शुरुआत

आईसीसी को क्रिकेट का ग्लोबल गवर्निंग बॉडी माना जाता है। इसकी स्थापना साल 1909 में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के प्रतिनिधियों के द्वारा की गई थी। इसके बाद साल 1965 में इसका नाम बदलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सम्मेलन कर दिया गया। इसके बाद एक बार फिर साल 1989 में इसका पुराना नाम ही रख दिया गया। वर्तमान समय में इसके सदस्यों की संख्या 106 है। इसमें से टेस्ट मैच खेलने वाले देशों की संख्या 10 हैं, जबकि 38 एसोसिएट सदस्य हैं। इसके अलावा 57 देशं इसमें शामिल हैं।

आईसीसी की कमाई का स्रोत 

आईसीसी की आय का मुख्य स्रोत उसके द्वारा अलग-अलग देशों में कराए जाने वाले टूर्नामेंट से होता है। इसके अलावा प्रायोजनों और टेलीविजन अधिकारों से उसकी अच्छी खासी कमाई हो जाती है। पहले के समय में तो केवल टेस्ट मैच और वनडे ही खेला जाता था, लेकिन जब से क्रिकेट में तीसरे फॉर्मेट ने यानी टी-20 क्रिकेट ने एंट्री ली है तब से उसकी कमाई में भी वृद्धी देखने को मिल रही है।

ये भी पढ़ें: सिद्दधू से लेकर गंभीर तक, इन खिलाड़ियों ने क्रिकेट के बाद राजनीति को चुना

स्पोर्ट्स से जुड़ी अन्य खबरें जैसे, cricket news और  football news के लिए हमारी वेबसाइट hindi.sportsdigest.in पर log on करें। इसके अलावा हमें FacebookTwitter पर फॉलो व YouTube चैनल को सब्सक्राइब करें। 

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More