Rahul Dravid : बतौर कोच राहुल द्रविड़ का कार्यकाल हुआ समाप्त, कैसी रही उनकी उपलब्धियां जानिए ?

Rahul Dravid : टी 20 विश्व कप 2024 के फाइनल मुकाबले में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 7 रनों से हराकर ट्रॉफी पर अपना कब्ज़ा कर लिया है। भारत की इस जीत के साथ ही विराट कोहली और रोहित शर्मा ने अंतरराष्ट्रीय टी20 से संन्यास ले लिया। वहीं अब इस जीत के साथ ही बतौर हेड कोच राहुल द्रविड़ का कार्यकाल भी समाप्त हो गया है।

Rahul Dravid : टी 20 विश्व कप 2024 के फाइनल मुकाबले में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 7 रनों से हराकर ट्रॉफी पर अपना कब्ज़ा कर लिया है। भारत की इस जीत के साथ ही विराट कोहली और रोहित शर्मा ने अंतरराष्ट्रीय टी20 से संन्यास ले लिया। इसके चलते हुए अब विराट कोहली और रोहित शर्मा के युग का भी अंत हो गया है। वहीं अब इस जीत के साथ ही बतौर हेड कोच राहुल द्रविड़ का कार्यकाल भी समाप्त हो गया है।

Rahul Dravid राहुल द्रविड़ एक ऐसे इंसान थे जो अपनी भावनाओं को बहुत कम व्यक्त करते थे। लेकिन इस बार 11 साल बाद जैसे ही भारत ने इस टी 20 विश्व कप 2024 के ख़िताब को जीत कर अपने नाम किया तो वो बहुत ही भावुक भी हो गए थे। इस टी 20 विश्व कप 2024 में टूर्नामेंट की सेरेमनी के बाद जब विराट कोहली ने अपने हेड कोच को इस ट्रॉफी को दिया तो उस समय द्रविड़ ख़ुशी के साथ चिल्ला उठे थे।

rahul dravid
image source : X

Rahul Dravid स्वभाव से बिलकुल शांत रहने वाले कोच राहुल द्रविड़ के बारे में शायद ही किसी ने सोचा होगा कि वह भी कभी ऐसा कर सकते है। क्यूंकि राहुल द्रविड़ हमेशा से शांत रहने वाले खिलाडियों में से एक थे। वो जब भी खेलते थे तो कभी भी अपने आपे को नहीं खोते थे। अपने खेल को हमेशा ही जैंटलमैन परंपरा से खेलते थे। राहुल द्रविड़ को टीम इंडिया का हेड कोच नंबर 2021 में बनाया गया था।

Rahul Dravid राहुल द्रविड़ से पहले भारतीय टीम के हेड कोच रवि शास्त्री थे। उनकी कोचिंग के कार्यकाल में भारतीय टीम ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया था। ऐसे में अब राहुल द्रविड़ पर इस अच्छे प्रदर्शन की परम्परा को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी थी। कैसे वो अब इस परम्परा को आगे लेकर जाते है। लेकिन राहुल द्रविड़ का स्वभाव रवि शास्त्री से बिल्कुल ही अलग था। लेकिन बतौर कोच राहुल द्रविड़ ने इस भूमिका को बड़ी अच्छी तरह से निभाया। बेशक कोच के रूप में वो ऑस्ट्रेलिया नहीं गए थे लेकिन उन्होंने अलग – अलग फॉर्मेट में कंगारू टीम को अपनी कोचिंग में मात दिलवाई थी।

Rahul Dravid कैसा रहा राहुल द्रविड़ का कोचिंग रिकॉर्ड :-

Rahul Dravid अब अगर बतौर कोच राहुल द्रविड़ के कार्यकाल की बात करें तो उनकी कोचिंग में भारतीय टीम ने कुल 24 टेस्ट मैच खेले है। इन 24 टेस्ट मैचों में से भारत ने 14 टेस्ट में जीत हासिल की है। जबकि 7 मुकाबलों में भारतीय टीम को हार मिली है। इन 24 टेस्ट मैचों में से भारतीय टीम के तीन मुकाबले ड्रा रहे है। बतौर हेड कोच राहुल द्रविड़ की कोचिंग में ही भारतीय टीम टेस्ट चैंपियनशिप 2021 – 2023 के फाइनल तक पहुंच पाई थी।

rahul dravid
image source : X

Rahul Dravid इस टेस्ट चैंपियनशिप में भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार मिली थी। वहीं अब उनकी कोचिंग में वनडे मुकाबलों की बात करें तो उनकी कोचंग में भारत ने कुल 53 मुकाबले खेले है। इन 53 वनडे मुकाबले में से भारत ने 36 मुकाबले जीते है। वहीं 14 मुकाबले भारतीय टीम हारी है। वहीं इनकी कोचिंग में 3 मुकाबले बेनतीजा भी रहे है।

Rahul Dravid वहीं अपनी कोचिंग में जो 14 मुकाबले भारत ने हारे है उनमें सबसे ज्यादा दर्द द्रविड़ को साल 2023 के वनडे विश्व कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली हार का है। बतौर हेड कोच राहुल द्रविड़ की कोचिंग में भारत ने कुल 71 20 मुकाबले खेले है। इन 71 टी 20 मुकाबलों में से भारत ने 54 मुकाबले जीते है। जबकि 16 टी 20 मुकाबलों में भारतीत टीम को हार का सामना करना पड़ा है। इन टी 20 मुकाबलों में से एक मैच का नतीजा नहीं निकल पाया था। इन 54 जीते हुए मुकाबलों में से भारत ने 2 मुकाबले सुपर ओवर में जीते थे।

Rahul Dravid द्रविड़ की कोचिंग में भारत तीनों फॉर्मेट में बना नंबर वन :-

rahul dravid, virat kohli and rohit sharma
image source : X

Rahul Dravid राहुल द्रविड़ की कोचिंग में पहले दो साल में भारतीय टीम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची थी। लेकिन तब वह ऑस्ट्रेलिया से हर गई थी। इनकी कोचिंग में ही भारतीय टीम वनडे विश्व कप के फाइनल में पहुंची थी। इस बार भी वह ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार गई थी। लेकिन भारत ने द्रविड़ के कोच रहते एशिया कप का खिताब 2023 में जरूर जीता था। राहुल द्रविड़ की कोचिंग में ही भारतीय टीम तीनों फॉर्मेट में नंबर वन बनी थी। इस बार भारतीय टीम ने अमेरिका और वेस्टइंडीज में हुए टी 20 विश्व कप 2024 के फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को हराकर 17 साल बाद इस फॉर्मेट में दोबारा से जीत हासिल की है। इस टी 20 विश्व कप को जीत कर भारतीय टीम ने अपने हेड कोच राहुल द्रविड़ को अच्छी विदाई दी है।

Rahul Dravid द्रविड़ की कोचिंग में कई युवा खिलाड़ियों को मौका:-

rahul dravid
image source : X

Rahul Dravid राहुल द्रविड़ की कोचिंग में ही कई नए खिलाड़ियों को मौका मिला है। द्रविड़ नए खिलाड़ियों को मौका देने के लिए भी जाने जाते है। उनकी कोचिंग में ही ध्रुव जुरेल, आकाश दीप, सरफराज खान और देवदत्त पड्डिकल जैसे खिलाड़ियों को टीम इंडिया में खेलने का मौका मिला। क्यूंकि इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलते हुए रजत पेटीदार, ध्रुव जुरेल, देवदत्त पडिक्कल, सरफराज खान और आकाश दीप को डेब्यू करने का मौका मिला था।

ये भी पढ़ें: टी20 वर्ल्ड कप 2024 में सबसे ज्यादा चौके लगाने वाले टॉप 5 बल्लेबाज

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More