IPL 2024 FINAL: क्या कोलकाता के लिए लकी है गौतम गंभीर, क्या अब बनने जा रहे है भारतीय टीम के कोच ?

IPL 2024 FINAL: कोलकाता नाइट राइडर्स ने श्रेयस अय्यर की कप्तानी में सनराइजर्स हैदराबाद को हराकर आईपीएल 2024 का आईपीएल का खिताब जीत लिया है। इससे पहले भी कोलकाता की टीम 2021 में फाइनल में पहुंची थी पर उस समय ख़िताब नहीं जीत पाई थी।

IPL 2024 FINAL: IPL 2024 FINAL: कोलकाता नाइट राइडर्स ने श्रेयस अय्यर की कप्तानी में सनराइजर्स हैदराबाद को हराकर आईपीएल 2024 का खिताब जीत लिया है। इससे पहले भी कोलकाता की टीम आईपीएल सीजन 2021 के फाइनल में पहुंची थी। लेकिन तब चेन्नई की टीम से हार कर ख़िताब को जीत लिया था। कोलकाता की टीम ने इस सीजन से पहले भी साल 2012 और 2014 में यह ट्रॉफी जीती थी।

उस समय कोलकाता की टीम के कप्तान गौतम गंभीर थे। गौतम गंभीर की कप्तानी में ही कोलकाता ने 2 आईपीएल की ट्रॉफी जीती थी। लेकिन जब से गौतम गंभीर ने आईपीएल से सन्यास लिया इसके बाद से काफी लम्बा समय हो गया था इस टीम ने ने कोई भी ख़िताब नहीं जीता था। जैसे ही अब गौतम गंभीर एक बार फिर से कोलकाता की टीम के मेंटोर बन कर कोलकाता की टीम को जीत दिलाई है।

गौतम गंभीर ने अपनी कप्तानी में दिलाए टीम को 2 ख़िताब :- कोलकाता की टीम शुरू से ही इस आईपीएल लीग का हिस्सा है। लेकिन फिर भी इस टीम को पहला ख़िताब जीतने में 4 साल का लम्बा इंतजार करना पड़ा था। फिर साल 2011 की हुई नीलामी में कोलकाता ने गौतम गंभीर को अपनी टीम के साथ जोड़कर अपनी टीम का कप्तान नियुक्त किया।

इस सीजन में कोलकाता के अधिकतर खिलाड़ी बदल चुके थे। गौतम गंभीर ने अपनी इस टीम के साथ काफी मेहनत की और कोलकाता को पहली बार प्लेऑफ में पहुँचाया था। इस सीजन में कोलकाता की टीम चौथे स्थान पर रही थी। लेकिन 2012 के सीजन में एक बार फिर से गंभीर की कप्तानी में ही कोलकाता की टीम लीग में उतरी। इस सीजन में गौतम गंभीर का बल्ला काफी आग उगल रहा था और कोलकाता की टीम ने पहली बार इस लीग के फाइनल में जगह बनाई।

अब कोलकाता को खिताबी मुकाबले में 2 बार की विजेता चेन्नई से भिड़ना था। और चेन्नई उस समय की सबसे मजबूत टीमों में से एक थी। इस बार का फाइनल मुकाबला भी चेन्नई के घरेलु मैदान चेपॉक स्टेडियम में ही हुआ था। तब चेन्नई ने कोलकाता के सामने जीत के लिए 191 रनों का लक्ष्य रखा था। कोलकाता की टीम ने इस लक्ष्य को 5 विकेट खोकर 2 गेंद शेष रहते हुए हांसिल कर लिया।

तब कोलकाता की टीम को गौतम गंभीर की कप्तानी में पहला ख़िताब हांसिल किया । इसके बाद कोलकाता ने साल 2014 के सीजन में पंजाब किंग्स की टीम को हराकर दूसरा आईपीएल का ख़िताब जीता था। लेकिन इस सफल कप्तान का इस टीम का साथ 2017 के सीजन के बाद टूट गया था। क्यूंकि इस सीजन के बाद गंभीर ने आईपीएल से ही सन्यास ले लिया था।

जब गंभीर ने इस टीम का साथ छोड़ दिया तो उसके बाद दिनेश कार्तिक को साल 2018 से 2020 तक कोलकाता की टीम का कप्तान बनाया गया था। लेकिन दिनेश कार्तिक की कप्तानी में टीम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई। और इन तीन सालों में केवल एक बार ही टीम प्ले ऑफ में पहुँच पाई थी। कोलकाता की टीम साल 2018 में तीसरे , साल 2019 और 2020 में पांचवें स्थान पर रही थी।

इसके बड़ा फिर साल 2021 में इयोन मोर्गन को कोलकाता की टीम का कप्तान बनाया। लेकिन इस साल का पहला चरण इस टीम के लिए काफी निराशाजनक रहा था। उस साल को कोविड-19 के कारण इस टूर्नामेंट को रद्द कर दिया था। वहीँ इस खेल का दूसरा चरण सितम्बर – अक्टूबर में खेला गया था। इस खेल का दूसरा चरण कोलकाता की टीम के लिए काफी शानदार पूर्ण रहा था।

इस सीजन में कोलकाता की टीम ने फाइनल में जगह बनाई थी। लेकिन इस बार भी कोलकाता की टीम ख़िताब नहीं जीत पाई थी। वहीँ इसके बाद के सीजन में श्रेयस अय्यर कोलकाता की टीम से जुड़े और कोलकाता की टीम ने उनको कप्तान नियुक्त किया। लेकिन साल 2022 का सीजन कोलकाता के लिए काफी निराशाजनक रहा था और इस साल कोलकाता की टीम सातवें स्थान पर रही थी।

लेकिन 2023 में श्रेयस अय्यर चोट के चलते हुए उस साल टूर्नामेंट से बाहर हो गए। तब उनकी जगह नितीश राणा को कोलकाता टीम की कमान सौंपी गई। लेकिन तब भी नितीश कुमार आईपीएल का ख़िताब नहीं दिला पाए थे।

गौतम गंभीर की कोलकाता के मेंटर के तौर पर सफल वापसी :- अब कोलकाता को आईपीएल का ख़िताब जीते हुए काफी लम्बा समय बीत चूका है। इस सब को देखते हुए ही कोलकाता की टीम ने एक बार फिर से अपने पूर्व कप्तान की तरफ ही देखा। गौतम साल 2022 में आईपीएल में लखनऊ की टीम के मेंटर के रूप में जुड़े थे। और अपनी कोचिंग में गंभीर ने इस टीम को 2 बार प्ले ऑफ तक पहुँचाया था।

क्यूंकि 2023 के सीजन के बाद से ही यह खबर आ रही थी कि शाहरुख़ खान गौतम गंभीर को दोबारा से कोलकाता की टीम में शामिल करने के लिए अपनी रूचि दिखा रहे है। आख़िरकार अंत में गौतम गंभीर को कोलकाता की टीम का मेंटर बना दिया गया। इस बार लम्बे समय बाद गौतम गंभीर की कोचिंग में कोलकाता की टीम ने आख़िरकार 10 साल बाद इस आईपीएल के खिताबी सुके को ख़त्म कर दिया है और कोलकाता को ख़िताब दिला दिया है।

ये भी पढ़ें: Cristiano Ronaldo: जब रोनाल्डो के सामने लगे मेसी-मेसी के नारे…

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More