भारत ने पाकिस्तान के दी करारी शिकस्त, चौथी बार किा ट्रॉफी में कब्जा

भारत की तरफ से अंगत बीर सिंह ने 13वें और अरिजीत सिंह ने 20वें मिनट में गोल किया। वहीं, दूसरी तरफ पाकिस्तान के लिए एकमात्र गोल मैच के 37वें मिनट में आया।

भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला चाहे किसी भी खेल और किसी भी स्तर का हो, वो होता तो रोमांचक की है। हर बार की तरह इस बार भी भारतीय जूनियर हॉकी टीम ने अपने चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को मुकाबले में 2-1 से शिकस्त दे दी है। इसके साथ ही भारत की इस जूनियर टीम ने चौथी बार एशिया कप की ट्रॉफी को अपने नाम किया है। भारत की तरफ से अंगत बीर सिंह ने 13वें और अरिजीत सिंह ने 20वें मिनट में गोल किया। वहीं, दूसरी तरफ पाकिस्तान के लिए एकमात्र गोल मैच के 37वें मिनट में आया। ये गोल अब्दुल बशरत ने किया। इससे पहले भारतीय टीम ने साल 2004, 2008, और 2015 में इस खिताब को अपने नाम किया था।

इसके साथ ही इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करने के बाद भारतीय टीम ने मलयेशिया में होने वाले अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ पुरुष जूनियर विश्वकप के लिए भी क्वालिफाई कर लिया है। जैसे ही भारतीय टीम ने अंगतत बीर सिंह और अरिजीत सिंह की बदौलत पाकिस्तान की टीम पर दो गोल दागे तो उस वक्त लग रहा था कि टीम इस मैच को 2-0 के अंतर से अपने नाम कर लेगी। लेकिन पाकिस्तान के अब्दुल बशरत ने 37वें मिनट में अपनी टीम के लिए गोल दागकर इस हार के अंतर को कम करने का काम किया।


मैच समापन के बाद भारतीय टीम के कप्तापन उत्तम सिंह को मैन ऑफ दे मैच का अवॉर्ड दिया गया। इसके बाद उत्तम सिंह ने बताया कि लीग मैच में पाकिस्तान से मुकाबला ड्रॉ रहा था। हम इस बार सतर्क थे। टीम ने इतने सारे दर्शकों के बीच मैच नहीं खेला था। शुरुआत में गोल करना फायदेमंद रहा। बता दें, मैच समापन के बाद हॉकी इंडिया के कार्यकारी बोर्ड ने भारतीय टीम के जूनियर खिलाड़ियों के लिए 2-2 लाख रुपये और सपोर्ट स्टाफ को एक-एक लाख रुपये देने की घोषणा की है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More